Sunday, 26 November 2017

Tally.ERP9 me ledger aur voucher kese banaye

हेल्लो दोस्तों Tally With GST In Hindi में आपका स्वागत है दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम आपको बतायेंगे की टैली में  लेजर और वाउचर  केसे बनाते है  है क्योंकि दोस्तों टैली में कोई भी एंट्री करने के लिए हमे पहले सभी प्रकार के लेजर और उनकी एंट्री करने के लिए वाउचर की आवश्यकता होती है.

टैली में लेजर क्या है? आइये जानते है 
 टैली में लेजर एक प्रकार से किसी व्यक्ति विषेस या किसी फर्म या किसी कंपनी का खाता होता है जिससे हम सभी प्रकार का लेन देन करते है तो आइये दोस्तों जानते है टैली में लेजर और वाउचर केसे बनाते  है ---
दोस्तों टैली में लेजर बनाने के लिए सबसे पहले टैली को चालू कर ले फिर उस कंपनी को सेलेक्ट करे जिसमे आप काम करना चाहते है जेसे ही आप कंपनी को सेलेक्ट करेंगे आप सीधा कंपनी के Gateway of Tally सेक्सन में पहुच जाओगे जेसा की इमेज में दिखाई दे रहा है

Gateway of Tally में आने के बाद में आपको निचे Masters का ओपसन मिलेगा जिसमे आपको Accounts Info में इंटर करना है Accounts Info में इंटर होने की कीबोर्ड शॉर्टकट कुंजी A है Accounts Info में इंटर करने के बाद में आप लेजर और ग्रुप बनाने वाले सेक्शन में पहुच जाओगे जिसमे से आपको दो ओपसन दिखाई देंगे जेसा की इमेज में दिखाई दे रहा है.

जिसमे आपको लेजर वाले ओपसन पर क्लिक करना है जेसे ही आप लेजर वाले ओपसन पर क्लिक करेंगे तो लेजर बनाने वाली स्क्रीन पर पहुच जाओगे लेजर बनाने वाली स्क्रीन पर जाने की कीबोर्ड शोर्ट कट कुंजी L होती है लेजर वाले ओपसन पर क्लिक करते ही आपके सामने एक और स्क्रीन आएगी जिसमे भी आपको दो तरह के ओपसन दिखाई देंगे जिनके बारे में बारीकी से आपको हम बताएँगे तो आइये जानते है
(1.) Single Ledger   : Single Ledger के द्वारा आप एक बार में एक ही ग्रुप(Sundry Debtor ,Sundry Creditor आदि ) का एक ही खाता बना सकते हो आइये जानते है टैली में Single Ledger केसे बनाये .

(A.) Create - इस ओपसन के द्वारा आप नया Single Ledger बना सकते हो नया Single Ledgerबनाने के लिए आपको  Create वाले बटन पर इंटर प्रेस करना है या फिर कीबोर्ड से C कुंजी दबाये जेसे ही आप  Create बटन पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक एसी स्क्रीन खुल जाएगी जिसमे आपको निम्न जानकारी भरनी है जेसा की इमेज में दिखाई दे रहा है

(1.) Name : इस फिल्ड में खाते का नाम डालेंगे .
(2.) alias : इस फिल्ड में खाते से संबंधीत कोई और डिटेल ह तो वोह डालेंगे .
(3.) Under : इस फिल्ड में खाते का ग्रुप डालेंगे जेसे आप कोई खर्चे का खाता बना रहे हो तो उसका (Under Group) Direct या Indirect Expenses डालेंगे और यदि आप किसी भी प्रकार की आय का खाता बना रहे हो तो उसका (Under Group) Direct या Indirect Income  डालेंगे.
(4.) Inventory Value Are affected  : इस ओपसन को अपनी जरूरत के हिसाब से सेट करे .
(5.) Activate Interest Calculation   : इस ओपसन को भी  अपनी जरूरत के हिसाब से सेट करे .
                                                             Mailing Detail 
(6.) Name : इस फिल्ड में पार्टी का नाम डाले .
(7.) Address : इस फिल्ड में पार्टी का एड्रेस डाले जेसे स्थाई पता मोबाइल नंबर आदि .
(8.) Provide Bank Detail : इस फिल्ड में बैंक की डिटेल डाले .
                                                     Tax Registration Details 
(9.) PAN No. : इस फिल्ड में पार्टी या खाते की टैक्स से संबंधीत डिटेल्स भरनी है जेसे GST TDS  आदि .
(10.) : Opening Balance : इस फिल्ड में यदि आप जो खाता बना रहे हो वह खाता पहले से किसी दूसरी कंपनी में बना हुआ है और उस खाते का Closing Balance निकल रहा है तो यह उसका वोह Closing Balance नये खाते में  Opening Balance के रूप में डाल देंगे.

(B.) Display : इस ओपसन के द्वारा आप किसी भी खाते की डिटेल्स को ओपन करके देख सकते हो इसकी कीबोर्ड शॉर्टकट कुंजी D होती है .
(C.) Alter : इस ओपसन के द्वारा पहले से बने हुए खाते में यदि कोई बदलाव कर सकते हो इसकी कीबोर्ड शॉर्टकट कुंजी A होती है .

(2.) Multi Ledger : Multi Ledger के द्वारा हम एक साथ एक Under Group के अंदर बहुत सारे खाते एक साथ बना सकते है आइये जानते है Multi Ledger केसे बनाये ..
 (D.) Create :  इस ओपसन के द्वारा आप नया Multi Ledger बना सकते हो नया Multi Ledgerबनाने के लिए आपको  Create वाले बटन पर इंटर प्रेस करना है या फिर कीबोर्ड से C कुंजी दबाये जेसे ही आप  Create बटन पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक एसी स्क्रीन खुल जाएगी जिसमे आपको निम्न जानकारी भरनी है जेसा की इमेज में दिखाई दे रहा है.

(1.) Date : इस फिल्ड में दिनांक डालेंगे .
(2.) Under Group : इस फिल्ड में वोह ग्रुप सलेक्ट करे जिस ग्रुप के अंडर में खाते बनाना चाहते है जेसे सारे खर्चो के खाते एक साथ बनाने है तो (Under Group) में Indirect Expenses डालेंगे और यदि आप किसी भी प्रकार की आय का खाता बना रहे हो तो उसका (Under Group) Direct या Indirect Income  डालेंगे और यदि आप सभी लेनदारो के खाते एक साथ बना रहे है तो  (Under Group) Sundry Creditor डालेंगे और यदि आप सभी देनदारो  के खाते एक साथ बना रहे है तो  (Under Group) Sundry Debtor डालेंगे इसी प्रकार सबी ग्रुप्स के अंडर में खाते सेट करेंगे .
(3.) Name Of Ledger : इस फिल्ड में उस व्यक्ति या उस चीज का नाम डालेंगे जिसका आप खाता बनाना चाहते है जेसे Rent A/c , Furniture A/c ,XYZ Company , Discount A/c आदि .
 (4.) Opening Balance :  इस फिल्ड में यदि आप जो खाता बना रहे हो वह खाता पहले से किसी दूसरी कंपनी में बना हुआ है और उस खाते का Closing Balance निकल रहा है तो यह उसका वोह Closing Balance नये खाते में  Opening Balance के रूप में डाल देंगे.

(E.) Display : इस ओपसन के द्वारा आप किसी भी खाते की डिटेल्स को ओपन करके देख सकते हो इसकी कीबोर्ड शॉर्टकट कुंजी D होती है .
(F.) Alter : इस ओपसन के द्वारा पहले से बने हुए खाते में यदि कोई बदलाव कर सकते हो इसकी कीबोर्ड शॉर्टकट कुंजी A होती है .
(G.) Quit : इस ओपसन के द्वारा हम वापस टैली के Gateway of Tally सेक्शन में आ जायेंगे इसकी कीबोर्ड शोर्ट कट कुंजी Q होती है
निष्कर्ष :
दोस्तों आज इस पोस्ट के माध्यम से आपने जाना की टैली में Ledger केसे बनाते है आशा करते है की आपको अब पता चल गया होगा की टैली में  Ledger केसे बनाते  है .
दोस्तों इस पोस्ट की जानकरी आप अपने सारे दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे जिससे और भी लोगो तक यह जानकारी पहुचे और दोस्तों आपको यदि इस पोस्ट में कोई परेशानी आई हो तो आप हमे कमेंट करे हम आपकी जरुर सहायता करेंगे
धन्यवाद

दोस्तों हमारी Tally With GST In Hindi Offline की एंड्राइड एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए निचे दी गयी फोटो पर क्लिक करे


EmoticonEmoticon